उत्तराखंड राज्य दर्शन The tour of Uttarakhand [ENGLISH & HINDI]

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी लोग मैं आशा करता हूं कि आप सभी लोग स्वस्थ और मस्त होंगे और अपनी जिंदगी खुशियों के पल के साथ जी रहे होंगे।
आज मैं आपको उत्तराखंड राज्य के दर्शन पर ले चलता हूं आपको करना कुछ नहीं है बस इसको पढ़कर पढ़कर उसको महसूस करना है जिससे आपको काफी अच्छा महसूस होगा।
उत्तराखंड राज्य का गठन 9 नवंबर 2000 को भारत के 27 राज्य के रूप में हुआ था यह एक हिमालय राज्य है।

Namaskar friends, how are you all people I hope all of you will be healthy and cool and live your life with a happy moment.
Today, I take you to the philosophy of the State of Uttarakhand.
The State of Uttarakhand was formed on 9th November, 2000 as 27 States of India.





Image Source

भारत में कुल 11 हिमालयी राज्य हैं जिसमें से अंतिम हिमालयी राज्य उत्तराखंड है। उत्तराखंड में ही आप चारों धामों की यात्रा कर सकते हैं उत्तराखंड के चार धाम इस प्रकार हैं केदारनाथ जो कि रुद्रप्रयाग जनपद पर स्थित है बद्री नाथ जोकि चमोली जनपद पर स्थित है और अन्य दो गंगोत्री व यमुनोत्री जोकिंग उत्तरकाशी जनपद पर स्थित हैं केदारनाथ धाम में भगवान शिव की पूजा की जाती है जो कि चारों धामों में सबसे ऊंचाई पर स्थित धाम है।

There are a total of 11 Himalayan States in India, the last of which is The Himalayan State of Uttarakhand. In Uttarakhand itself, you can visit all the four dhams: Kedarnath which is located on Rudraprayag district Badri Nath which is located on Chamoli district and the other two Gangotri and Yamunotri joking are located on Uttarkashi district.

माना जाता है कि केदारनाथ मंदिरों का निर्माण पांडवों ने कराया था जोकि उत्तराखंड शैली में निर्मित है।
बद्रीनाथ धाम सबसे कम ऊंचाई पर स्थित धाम है जहां भगवान विष्णु की पूजा की जाती है बद्रीनाथ धाम के बारे में माना जाता है कि बद्रीनाथ धाम का उद्धार आदि गुरु शंकराचार्य ने कराया था।
गंगोत्री में मां गंगा की पूजा की जाती है और गंगोत्री माता का मंदिर का निर्माण गोरखा सेनापति अमर सिंह थापा द्वारा कराया गया था।

Kedarnath temples are believed to have been built by the Pandavas which are built in uttarakhand style.
Badrinath Dham is the lowest altitude dham where Lord Vishnu is worshipped Badrinath Dham is believed to have been saved by Guru Shankaracharya.
Mother Ganga is worshipped in Gangotri and the temple of Gangotri Mata was built by Gorkha General Amar Singh Thapa.

यमुनोत्री में मां यमुना की पूजा की जाती है यमुना को यमराज की बहन और शनि की बहन माना जाता है और कृष्ण की पटरानी में से एक पटरानी मानी जाती है। यमुनोत्री मंदिर का निर्माण गढ़वाल नरेश प्रताप शाह द्वारा कराया गया था बाद में जिसका पुनर्निर्माण जयपुर की महारानी गुलेरिया ने कराया था।
एक अन्य धाम और स्थित है उत्तराखंड में जिसे उत्तराखंड का पांचवा धाम कहा जाता है जो कि अल्मोड़ा में स्थित जागेश्वर धाम है।

Mother Yamuna is worshipped in Yamunotri Yamuna is considered to be the sister of Yamaraj and sister of Saturn and one of Krishna's patrani is considered patrani. The Yamunotri temple was constructed by Garhwal King Pratap Shah and later rebuilt by Maharani Guleria of Jaipur.

जागेश्वर धाम में भी भगवान शिव की पूजा की जाती है कहा जाता है कि जागेश्वर धाम का निर्माण शालीवाहन देव ने कराया था जो कि एक कत्यूरी शासक था।

Mother Yamuna is worshipped in Yamunotri Yamuna is considered to be the sister of Yamaraj and sister of Saturn and one of Krishna's patrani is considered patrani. The Yamunotri temple was constructed by Garhwal King Pratap Shah and later rebuilt by Maharani Guleria of Jaipur.



0
0
0.000
2 comments
avatar

wah guru g bahut he badiya kya baat he bahut he khuub

0
0
0.000